बिहार में कोरोना के 7,487 नए मामले, रिकवरी रेट 84.52 प्रतिशत

बिहार में कोरोना के 7,487 नए मामले, रिकवरी रेट 84.52 प्रतिशत

पटना: बिहार में कोरोना की दूसरी लहर से बिहार सरकार पस्त हो गई है। सरकार के सारे दावों का दिवाला निकल गया है। हालांकि सोमवार को राज्य में कोराना संक्रमितों की संख्या में कमी दर्ज की गई है और यह 7,487 दर्ज की गई है। वहीं कोरोना मरीजों का रिकवरी प्रतिशत 84.52 है।

स्वास्थ्य विभाग से देर शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कुल 83,361 सैम्पल की जांच हुई है। जिसमें 7,487 लोग कोरोना  संक्रमित पाए गए। अबतक कुल 2,80,286 मरीज ठीक हुए हैं। वर्तमान में कोविड-19 के एक्टिव मरीजों की संख्या राज्यभर में 49,527 है।

राजधानी पटना में आज 2672 कोरोना संक्रमित पाए गए, अररिया 43,अरवल 58, औरंगाबाद 200, बाकां 43, बेगूसराय 255,भागलपुर 314, भोजपुर 110, बक्सर 79, दरभंगा 74, पूर्वी चम्पारण 162, गया 261, गोपालगंज 98,  जमुई 12, जहानाबाद 177, कैमूर 16, कटिहार 102,खगड़िया 22, किशनगंज 16, लखीसराय 70, मधेपुरा 65, मधुबनी 88, मुगेंर 349, मुजफ्फरपुर 389, नालंदा 178, नवादा 136, पूर्णिया 149, रोहतास 96, सहरसा 159, समस्तीपुर 217, सारण 243, शेखपुरा 42, सिवान 159, सुपौल 65, वैशाली 96, पश्चिमी चम्पारण 176 और अन्य राज्यों के 29 लोगों कोरोना संक्रमित मिले हैं।

छपरा रिमांड होम में 38 बच्चें कोरोना संक्रमित

छपरा के होम में बंद 38 बच्चे एक साथ कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं। रिमांड होम संचालकों ने पहले तो मामले को दबाने की कोशिश की थी लेकिन जब हालात बेकाबू हो गये तो बच्चों का टेस्ट कराया गया।38 बच्चों के एक साथ कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के बाद प्रशासन के हाथ पैर फूल गये हैं।

छपरा सिविल सर्जन ने बताया उन्हें खबर मिली कि रिमांड होम के 38 बच्चे कोरोना से संक्रमित हो गये हैं। खबर मिलने के तत्काल बाद मेडिकल टीम को रिमांड होम भेजा गया औऱ सारे संक्रमित बच्चों को छपरा सदर अस्पताल लाया गया है. सभी बच्चों को अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज कराया जा रहा है. उन्हें दवा से लेकर इलाज की दूसरी सुविधायें उपलब्ध करायी जा रही हैं।

उल्लेखनीय है कि  रिमांड होम में 18 साल से कम उम्र के वैसे बच्चों को रखा जाता है जिन पर आपराधिक मुकदमा चल रहा होता है. सूत्रों के मुताबिक कई दिन पहले से ही कुछ बच्चों में कोरोना जैसे लक्षण पाये गये थे. लेकिन रिमांड होम संचालकों ने मामले को दबाने की कोशिश की। ऐसे में धीरे धीरे वहां रह रहे सारे बच्चों में कोरोना फैल गया।

 

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें