निर्वाचन आयोग के दल ने बिहार के राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से की मुलाकात

निर्वाचन आयोग के दल ने बिहार के राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से की मुलाकात

Patna: मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोडा के नेतृत्व में निर्वाचन आयोग के पूर्ण दल ने बिहार के विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से पटना में मुलाकात की. जनता दल यूनाईटेड ने मांग की कि निर्वाचन आयोग मतदाताओं के बीच मतदान पर्ची वितरित करने की जिम्मेदारी ले. पार्टी ने आयोग की बैठक में सीमित संख्या में लोगों की उपस्थिति पर चिंता व्यक्त की.

कांग्रेस ने दस मतदान केन्द्रों के बीच एक चिकित्सा दल तैनात करने की मांग की. दूसरी ओर लोक जनशक्ति पार्टी ने आग्रह किया कि पंचायत चुनावों की तर्ज पर विधानसभा चुनाव के मतदान केन्द्र हों.

बाद में आयोग का दल सारण, सीवान, गोपालगंज और मुजफ्फरपुर सहित 26 जिलों के पुलिस आयुक्तों और जिला मजिस्ट्रेटों के साथ पटना में समीक्षा बैठक की गई.

निर्वाचन आयोग का यह दल आगामी विधानसभा चुनावों की तैयारियों की समीक्षा के लिए राज्य के तीन दिन के दौरे पर है. मुख्य निर्वाचन आयुक्त के साथ निर्वाचन आयुक्त सुशील चन्द्र और राजीव कुमार भी हैं. आयोग के इस दल ने कल बिहार के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और नोडल अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की थी. बिहार अकेला ऐसा राज्य है जहां कोविड-19 महामारी के दौरान विधानसभा चुनाव कराए जा रहे हैं.

निर्वाचन आयोग कल गया जाएगा, जहां 12 जिलों के जिला मजिस्‍ट्रेटो और पुलिस अधीक्षकों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की जाएगी. इन जिलों में औरंगाबाद, कैमूर और रोहताश शामिल है. दिल्‍ली वापसी से पहले निर्वाचन आयोग बिहार के मुख्‍य सचिव, गृह सचिव और पुलिस महानिदेशक के साथ समीक्षा बैठक करेगा.

छपरा टुडे डॉट कॉम की खबरों को Facebook पर पढ़ने कर लिए @ChhapraToday पर Like करे. हमें ट्विटर पर @ChhapraToday पर Follow करें. Video न्यूज़ के लिए हमारे YouTube चैनल को @ChhapraToday पर Subscribe करें