Sep 22, 2017 - Fri
Chhapra, India
34°C
Wind 3 m/s, ENE
Humidity 71%
Pressure 751.56 mmHg

22 Sep 2017      

Home विदेश

यूएन: संयुक्त राष्ट्र (यूएन) का मानना है कि भारत की आबादी 2024 में चीन से अधिक हो जाएगी.यूएन के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग ने विश्व आबादी संभावना-2017 नामक रिपोर्ट में यह दावा किया है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन की आबादी फिलहाल 1.41अरब है और भारत की 1.34 अरब है. विश्व आबादी में दोनों देशों की क्रमश: 19 और 18 फीसद की हिस्सेदारी है. रिपोर्ट में कहा गया है कि करीब सात साल में या 2024 के आसपास भारत की आबादी चीन की आबादी को पार करने की उम्मीद है.

यह संयुक्त राष्ट्र आधिकारिक अनुमान के 25वें दौर की समीक्षा रिपोर्ट है. 24वें दौर का अनुमान 2015 में जारी किया गया था. इसमें अनुमान लगाया गया था कि भारत की आबादी 2022 तक चीन को पार कर जाएगी. नए अनुमान में कहा गया है कि 2024 में भारत और चीन दोनों की आबादी करीब 1.44 अरब के आसपास होगी.

इसके बाद भारत की आबादी 2030 में 1.5 अरब और2050 में 1.66 अरब होने का अनुमान है. चीन की आबादी2030 तक स्थिर रहने का अनुमान है जिसके बाद इसमें धीमी गिरावट आ सकती है. भारत की आबादी में 2050 के बाद कमी आ सकती है. सामूहिक रूप से 10 देशों की आबादी 2017 से 2050 के बीच बढ़ कर दुनिया की कुल आबादी की आधी से अधिक हो जाने की उम्मीद है. इन देशों में भारत, नाइजीरिया, कांगो, पाकिस्तान, इथोपिया,तंजानिया, अमेरिका, युगांडा, इंडोनेशिया और मिस्र शामिल हैं. इन 10 देशों में नाइजीरिया की आबादी सबसे तेजी से बढ़ रही है.

(Visited 30 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!