Jan 22, 2018 - Mon
Chhapra, India
9°C
Wind 1 m/s, WSW
Humidity 85%
Pressure 765.25 mmHg

22 Jan 2018      

Home आपका सारण

Chhapra: जिले के रिविलगंज प्रखंड स्थित मैनपुरा गांव निवासी कमलेश्वर तिवारी और वीणा देवी के पुत्र डॉ सिदार्थ ने राष्ट्रपति के हाथों चिकित्सा के क्षेत्र में गोल्डन जुबली अवार्ड हासिल कर अपने माता पिता सहित गांव और जिले का नाम रौशन किया है. बंगलुरू के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेन्टल हेल्थ एंड न्यूरो साइंस के वार्षिक समारोह में महामहीम राष्ट्रपति डॉ रामनाथ कोविंद द्वारा दीक्षांत समारोह में डॉ सर्वेश तिवारी को गोल्डन जुबली अवार्ड से सम्मानित किया.

डॉ सर्वेश तिवारी के पिता कमलेश्वर तिवारी ने बताया कि सर्वेश प्रारम्भ से ही पढ़ाई में तेज था. आर्थिक तंगी के बावजूद मां की बीमारी से हुई असामयिक मृत्यु के बाद सर्वेश ने डॉक्टर बनने की ठानी.

पिता की रेलवे में नौकरी लगने के बाद हुए परिवर्तन ने उसे उच्च शिक्षा के लिए बाहर जाने का मौका मिला. जिसके बाद उसने असम के डिब्रूगढ़ मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री हासिल कर बेंगलुर में नौकरी जॉइन किया.

जहां अपने कैरियर के रूप में मानसिक स्वास्थ्य एवं तंत्रिका विज्ञान को चुना. विगत वर्ष डॉ सर्वेश की पटना निवासी डां मालविका शर्मा से दहेज मुक्त शादी सम्पन्न हुई.

राष्ट्रपति के हाथों गोल्डन जुबली अवार्ड पाने के बाद गांव के लोग खुश है और पिता को बधाई दे रहे है. गोल्डन जुबली अवार्ड पाने पर चाचा रंजीत तिवारी, राजेश कुमार तिवारी, मुखिया आमिर खान, निधि कुमारी ने बधाई दी है.

(Visited 543 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!