Feb 25, 2018 - Sun
Chhapra, India
23°C
Wind 4 m/s, W
Humidity 72%
Pressure 765.13 mmHg

25 Feb 2018      

Home शिक्षा

छपरा: स्थानीय सेन्ट्रल पब्लिक स्कूल में शुक्रवार को टीचर्स ट्रेंनिंग वर्कशॉप का आयोजन प्रतिष्ठित आकाश इंस्टिट्यूट के सौजन्य से हुआ. रिसोर्स पर्सन के रूप में अंर्तराष्ट्रीय मोटिवेटर और स्पीकर रीबा कपूर थी. कार्यक्रम की शुरूआत विद्यालय के निदेशक हरेन्द्र सिंह और प्राचार्य मुरारी सिंह ने रीबा कपूर को पुष्पगुच्छ देकर किया. रीबा कपूर ने शैक्षणिक कार्य को पवित्र और दैविक बताया और समस्त शिक्षकों को इस कार्य के लिए बधाई दी.

तीन घंटे तक चले शैक्षणिक कार्यशाला में रीबा कपूर ने शिक्षकों और छात्रों के बीच शैक्षणिक संबंधों का वैज्ञानिक विश्लेषण. रीबा कपूर ने हरेक छात्र के कौशल को पहचानने की कला को शिक्षको के समक्ष प्रस्तुत किया और उसका वैज्ञानिक विश्लेषण किया. उन्होंने मानव मस्तिष्क के चार भागों L1, L2, R1, R2 को पहचानने की बड़ी ही सहज कला बतायी जिससे किसी भी विद्यार्थी के कौशल को पहचाना जा सकता है. रीबा कपूर ने अपने व्याख्यान में कहा कि कोई भी विद्यार्थी शैक्षणिक योग्यता के लिए कमजोर नही होता. जरूरत है शिक्षक को उसके कौशल को पहचानने की और उसे प्रेरित करने की.

रीबा कपूर ने सम्पूर्ण कार्यशाला विद्यार्थीयों के कौशल को कैसे वैज्ञानिक तरीके से पहचाना जाए, को समर्पित किया. कार्यशाला के उपरांत शिक्षको में गजब का उत्साह दिख रहा था. उनके चेहरे की चमक देख ऐसा प्रेरित हो रहा था कि जैसे आज शिक्षक समुदाय को कोई संजीवनी मिल गयी है. जिससे वे अपने विद्यार्थियों को एक नया जीवन देने को आतुर हो.

समस्त शिक्षकों ने कार्यशाला को सम्पूर्ण रुप से सफल बताया और विद्यालय प्रबंधन से समय-समय पर ऐसे ही कार्यशाला आयोजन करने की अपील की. कार्यशाला के अंत में निदेशक और प्राचार्य ने कार्यशाला की सफलता के लिए रीबा कपूर की सराहना की और विद्यालय का प्रतिक चिन्ह देकर विदा किया.
कार्यक्रम का संयोजन विद्यालय प्रबंधक विकाश कुमार ने किया वही धन्यवाद ज्ञापन उपप्राचार्य एफ बी सिंह ने किया.

(Visited 153 times, 1 visits today)
Similar articles

Comments are closed.

error: Content is protected !!