Nov 23, 2017 - Thu
Chhapra, India
16°C
Wind 2 m/s, W
Humidity 87%
Pressure 759.06 mmHg

23 Nov 2017      

Home संपादकीय

(सुरभित दत्त)

सारण के हरदिल अज़ीज़ जिलाधिकारी दीपक आनंद का तबादला राज्य सरकार ने कर दिया है. जिले में अपने 25 महीने के कार्यकाल में उन्होंने लोगों के दिलों में जो जगह बनायीं है उसे लोग भूल नहीं सकते.

उन्होंने डिजिटल मीडिया और सोशल मीडिया को कई बार प्राकृतिक आपदाओं के समय सूचना के आदान प्रदान का माध्यम बनाया जिससे सभी तक तेज़ी से सूचनाएं पहुंचाई जा सकी. दीपक आनंद अपने प्रशासनिक कौशल के बदौलत सारण जिले में डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के बेहतर क्रियान्वयन के लिए केंद्र सरकार द्वारा दिसम्बर 2015 में राष्ट्रीय स्तर के  पुरस्कार से सम्मानित हो चुके है.   dm saran (4)

सारण जिले में सोशल मीडिया पर एक्टिव शायद ही कोई हो जो जिलाधिकारी दीपक आनंद से किसी न किसी माध्यम से जुड़ा न हो. लोगों को समस्याओं को उन्होंने फेसबुक व्हाट्स ऐप और अन्य माध्यमों से सुना और उसका निष्पादन भी किया.

बतौर सारण के जिलाधिकारी कार्यभार सँभालने के बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा था कि सरकार की योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचाना उनका लक्ष्य रहता है. 

अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने इसे साबित भी किया. सेवानिवृत कर्मियों के बकाये, सामाजिक सुरक्षा आदि के लाभार्थियों को जनता दरबार और कैम्प लगा कर वितरित करवाए. जिससे लोगों को राहत मिली.dm saran (3)

सौम्य स्वभाव, मृदु भाषी IAS दीपक आनंद हमेशा लोगों की सहायता को तत्पर रहे. अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में जनता दरबार में फ़रियाद लेकर पहुंचे एक निर्धन बुजुर्ग को उन्होंने अपने पैसे से कपड़े खरीद कर दिए जो चर्चा का विषय बना. साथ ही समाहरणालय और जिलाधिकारी आवास के बाहर शिकायत पेटी लगवा कर जनता की शिकायतों को सुनने और उसके निष्पादन की व्यवस्था उनके कार्यकाल में दिखी. 

कार्यकाल की मुख्य बातें

*अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने पहली बार सारण गजेटियर का हिंदी अनुवाद कराया ताकि सभी इसे पढ़ सके. 

* NH 19 और सोनपुर-पटना रेल खंड के अधिगृहित भूमि को खाली कराया.

*बाढ़ राहत शिविर में खुद पहुँच किया भोजन

*बाल गृह के बच्चियों से बंधवाई राखी

*समाहरणालय और जिलाधिकारी आवास के बाहर शिकायत पेटी लगवा कर उन्होंने जनता की शिकायतों को सुनने और उसके निष्पादन की व्यवस्था की.

*फेम इंडिया-एशिया पोस्ट सर्वे में सारण के डीएम दीपक आनंद चर्चित चेहरे में हुए शुमार

*केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने डिजिटल इंडिया पुरस्कार से किया सम्मानित  

*उत्कृष्ट कार्य के लिए सारण के डीएम दीपक आनंद को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

बिहार राज्य पथ विकास निगम लिमिटेड के सातवें स्थापना दिवस समारोह के अवसर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने दीपक आनंद को पथ निर्माण विभाग की परियोजनाओं को मूर्त रूप देने और उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए सम्मानित किया.

जिलाधिकारी दीपक आनंद बांका के जिलाधिकारी रहते हुए कमजोर वर्ग के छात्रों को आईएएस बनने के गुर भी सिखाये. उन्होंने ‘सिविल सर्विसेज में सफल कैसे हो’ नाम की एक पुस्तक भी लिखी है.

Photo Courtesy: deepak anand’s Facebook

(Visited 30 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!