Oct 18, 2017 - Wed
Chhapra, India
27°C
Wind 1 m/s, E
Humidity 83%
Pressure 754.56 mmHg

18 Oct 2017      

जब टूटने लगे हौसले तो बस ये याद रखना, बिना मेहनत के हासिल तख्तो ताज नहीं होते, ढूँढ़ ही लेते है अंधेरों में मंजिल अपनी, जुगनू कभी रौशनी के मोहताज़ नहीं होते…

जी हाँ, भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल होकर देश का नाम रौशन करने का ज़ज्बा लिए नौजवान क्रिकेट खिलाड़ी प्रशांत कुमार सिंह ने कुछ इसी दम-ख़म के साथ अपने करियर की शुरुआत की है.12 वर्ष की आयु से ही क्रिकेट के प्रति समर्पित इस युवा खिलाड़ी से छपरा टुडे डॉट कॉम संवाददाता कबीर अहमद ने की खास बातचीत.

कड़ी परिश्रम और खेल की बदौलत क्रिकेट में सारण जिले का मान और सम्मान बढाने वाले युवा क्रिकेटर प्रशांत कुमार सिंह का क्रिकेट के प्रति लगाव ऐसा था कि 12 वर्ष के आयु में ही हाथों में बल्ला और गेंद थाम प्रैक्टिस शुरू कर दी थी और अभी बिहार अंडर-19 टीम के कप्तान है. बेहतर प्रदर्शन को लेकर हाल ही में खेल मंत्री ने खेल दिवस के अवसर पर पटना में उन्हें सम्मानित भी किया.IMG-20160903-WA0074

प्रशांत ने भारत रत्न सचिन तेंदुलकर को अपना प्रेरणा श्रोत बताते हुए कहा कि उनके खेल को देख मैंने बहुत कुछ सिखा है. बदलते इस दौर में प्रशांत अपने अन्दर विराट कोहली को देखते है. वैसे प्रशांत ऑल राउंडर है लेकिन उन्हें सबसे ज्यादा बोलिंग करना पसंद है.

वर्ष 2013 में आगरा में आयोजित अंडर-16 इंडियन क्रिकेट कैंप में बिहार से दो खिलाड़ियों का चयन हुआ था. जिसमे एक प्रशांत कुमार सिंह भी थे. मनी ग्राम द्वारा नागपुर में आयोजित कार्यक्रम में 133 kmph से गेंद फेंकने के लिए भारतीय टीम के तेज़ गेंदबाज लक्ष्मीपति बाला जी ने उन्हें सम्मानित किया था. प्रशांत बिहार से एक मात्र खिलाड़ी थे जिन्हें ये सम्मान मिला.BeautyPlus_20160314214631_save

अपनी दिनचर्या के बारे में बताते हुए प्रशांत ने कहा मैं सुबह 5 बजे उठता हूँ और राजेंद्र स्टेडियम में दौड़ने के लिए जाता हूँ. दोपहर 2 बजे से प्रैक्टिस के लिए नेट पर पसीना बहाता हूँ. सूरज ढलते ही प्रैक्टिस के बाद जीम की ओर चल पड़ता हूँ.

माता-पिता का स्नेह, बड़े भाई का प्यार और गुरुजनों के आशीर्वाद से मैं अब तक इतना सफल हो पाया हूँ. मुझे अपने सपने को पूरा करने में इन लोगों के प्यार और स्नेह की जरुरत है. प्रशांत अपने अब तक की सफलता का श्रेय कोच मुकेश कुमार प्रिंस और कैसर अनवर के साथ-साथ समय-समय पर परस्पर सहयोग करने वाले युवराज सुधीर सिंह और मशकुर खान को भी देते है.

जब हौसला बना लिया ऊँची उड़ान का…फिर देखना फिज़ूल है कद आसमान का…छपरा टुडे की टीम की ओर से छपरा के उभरते हुए खिलाड़ी प्रशांत कुमार सिंह को उनके उज्जवल भविष्य के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाये.

यहाँ देखें विडियो:

(Visited 55 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!