Sep 22, 2017 - Fri
Chhapra, India
29°C
Wind 4 m/s, E
Humidity 89%
Pressure 753.81 mmHg

22 Sep 2017      

Home आपका शहर

छपरा: होमगार्ड के पदाधिकारियों को विधि-व्यवस्था एवं अन्य कार्यो में प्रतिनियुक्त करने का निर्देश महानिदेशक-सह-महासमादेष्टा पारस नाथ राय ने दिया. श्री राय ने समाहरणालय सभागार में बिहार गृह रक्षा वाहिनी एवं अग्निशमन सेवाएं की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक को निर्देश.

उन्होंने बिहार रक्षा वाहिनी एवं अग्निशमन सेवाएं के जवानो को सभी प्रकार की प्राकृतिक आपदाओं से जुड़ने का निर्देश दिया. इसके साथ ही राज्य के 600 विशेषगन होमगार्ड को लेकर राज्य में एसडीआरएफ की टीम बनायी जायेगी. उन्होंने कहा कि न केवल सिर्फ होमगार्ड के जवानों बल्कि होमगार्ड के पदाधिकारियों यथा इंस्पेक्टर एवं डीएसपी को भी बाढ़ नियंत्रण में उपयोग किया जाय.

उन्होंने बताया कि बिहार गृह रक्षा वाहिनी एवं अग्निशमन सेवाएं को सारी सुविधाओं से युक्त करने का प्रयास किया जा रहा है. इसके लिए होमगार्ड के जवानों को अनुशासित रहना आवश्यक है.

उन्होंने होमगार्ड के पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि वे थाना, रेलवे स्टेशन एवं प्रखंड कार्यालयों में जाकर यह निरीक्षण करें कि होमगार्ड के जवानों में क्या कमियां है, उन्हें कौन सी सुविधाएं मुहैया करायी जानी है. वे होमगार्ड के जवानों की कमियों एवं असुविधाओं को दूर करने के लिए मुख्यालयों से पत्राचार करें.

उन्होंने कहा कि सभी होमगार्ड वर्दी में रहें, ताकि होमगार्ड के जवानों को कोई हीन भावना से नहीं देखे. उन्होंने कहा कि हर 2 साल में वर्दी के लिए होमगार्ड के जवानों को राशि मुहैया करायी जाती है. वर्दी में रहने पर उनके कार्यो की दक्षता एवं क्षमता बढ़ेगी.

महानिदेशक सह महासमादेष्टा श्री राय ने कहा कि अग्निशमन की गाड़ियों को सभी सुविधाओं से युक्त रखा जाय. जिस अग्निशमन की गाड़ियों में आपदा से त्वरित बचाव के लिए अत्याधुनिक एवं आवश्यक सामग्री नहीं है. वैसे सामग्री की मांग मुख्यालय से तत्क्षण किया जाय.

बैठक में डीआईजी अजित कुमार राय, जिलाधिकारी हरिहर प्रसाद, पुलिस अधीक्षक हरकिशोर राय, बिहार होमगार्ड के कमांडेन्ट, प्रभारी पदाधिकारी आपदा प्रबंधन शिव कुमार पंडित, जिला जनसम्पर्क पदाधिकारी अनिल कुमार चौधरी, अग्निशमन सेवाओं के सभी संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे.

(Visited 129 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!