Nov 22, 2017 - Wed
Chhapra, India
12°C
Wind 2 m/s, W
Humidity 87%
Pressure 759.81 mmHg

22 Nov 2017      

Home आपका शहर

Chhapra (Santosh kumar Banty): विश्व प्रसिद्ध हरिहर क्षेत्र मेले में भगवान शिव का तांडव दर्शक देखते ही रह गए. प्रशासन से लेकर आमजन तक सबकी निगाहें बस मुख्य पंडाल के स्टेज पर प्रस्तुत की जा रही शिव तांडव पर ही टिकी थी.

शिव के तांडव के बाद उनके अघौरियों ने जो अपनी धुनि रमाई, चंदन की भभूति से भगवान शिव को प्रसन्न करने और उनके साक्षत अभिषेक ने सभी को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया. 45 मिनट के इस पूरे दृश्य को सभी एक टक देख रहे थे.

इसे भी पढ़े: …बस एक सनम चाहिए आशिकी के लिए, कुमार शानू के गीतों पर झूमे श्रोता

शिव तांडव का मंचन पटना के दोस्ताना सफ़र द्वारा किया गया था. दोस्तानासफ़र किन्नर समाज के उत्थान और परिवर्तन के लिए बनी संस्था है. जो उस समाज के प्रति आम जनमानस में बनी सोंच को अपनी कला, कार्य क्षमता से बदलने का प्रयास कर रही है. मुख्य पंडाल में उपस्थित सभी दर्शकों ने इस शिव तांडव के मंचन को सराहना की और उसे सबसे बेहतर प्रदर्शन बताया.

छपरा टुडे डॉट कॉम के संतोष कुमार बंटी ने ‘शिव तांडव’ का मंचन कर रहे दोस्ताना सफ़र की सचिव रेशमा प्रसाद से बातचीत की. दोस्तानासफ़र की सचिव रेशमा प्रसाद ने छपरा टुडे को बताया कि शिव तांडव का मंचन किन्नर द्वारा किया गया है. शिव तांडव के मंचन में कुल 14 किन्नर सदस्य शामिल है. शिव तांडव नृत्य का निर्देशन जाह्नवी प्रसाद ने किया है. जबकि भगवान शिव की भूमिका संजना प्रसाद अदा की है.

रेशमा प्रसाद ने दोस्तानासफ़र के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि समाज मे ट्रांसजेंडर (किन्नर) के प्रति जो सोंच बनी हुई है उसको बदलने का यह एक प्रयास है.

रेशमा प्रसाद ने बताया कि कला के क्षेत्र में हम कही से कम नही है, यह हमने साबित किया है. शिक्षा, रोजगार सहित सभी क्षेत्रों में हम अपनी काबिलियत साबित कर रहे है और करेंगे.

समाज का हमारे किन्नर समाज के प्रति नज़रिया बदल रहा है. किन्नर समाज के उत्थान और न्याय के लिए वह हर संभव कार्य करेंगी.

(Visited 210 times, 1 visits today)

Comments are closed.

error: Content is protected !!